Home हेल्थ टिप्स Papita khane ke fayde | पपीते के गुण, फायदे और स्वास्थलाभ

Papita khane ke fayde | पपीते के गुण, फायदे और स्वास्थलाभ

Papita khane ke fayde: पपीता हमारी सेहत के लिए बहुत लाभकारी होता है। वजन कम करना हो या पेट की कोई भी समस्या या फिर चेहरे पर ग्लो लाना हो पपीता (Papaya In Hindi) रामबाण की तरह काम करता है। जी हां चाहे हेल्थ हो या ब्यूटी सभी को अच्छा रखने में यह आपकी मदद करता है।

पपीता खाने के फायदे- Papaya In Hindi

बढ़ता वजन आजकल की महिलाओं की सबसे बड़ी प्रॉब्लम है। अगर आपकी भी यही समस्या है और आप बढ़ते वजन को कम करना चाहती हैं तो कच्चे पपीता आज से ही खाना शुरू करें। जी हां कच्चे पपीते में फाइबर की मात्रा बहुत ज्यादा होती है। इसलिए इसे खाने से शरीर में जमा एक्स्ट्रा फैट निकल जाता है।

पपीता-कच्चे-हो-या-पक्के-जानिए-इसके-स्वास्थलाभ

Papita khane ke fayde: कच्चा पपीता शरीर के लिए एक क्लेंजर का काम करता है और शरीर में मौजूद गंदगी को बाहर निकालने में मदद करता है। यह असिडिटी से लेकर पाइल्स और डायरिया को दूर करने में भी मदद करता है।

कच्चा पपीता प्रोटीएस एन्जाइम से भरपूर होता है जो स्किन को फ्रेश और यंग रखने में मदद करता है।

कच्चे पपीते रोज खाने से मधुमेह रोगियों के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। इसका सेवन खून में शुगर की मात्रा को कम करता है और इंसुलिन की मात्रा को बढ़ाता है। इससे मधुमेह कंट्रोल में रहती है।

कच्चे पपीते में ऐसे एंजाइम और फाइबर होता हैं, जो पाचन तंत्र को ठीक रखते है और पेच में गैस नहीं बनने देते। इससे आपको कुछ समय में ही कब्ज और पेट दर्द से छुटकारा मिल जाता है।

पपीता-कच्चे-हो-या-पक्के-जानिए-इसके-स्वास्थलाभ.jpg 2

Papita khane ke fayde: डेंगू ऐसी बीमारी है जिसमें व्यक्ति के प्लेटलेट्स गिरने लगते हैं। इतना ही नहीं, कई बार तो इस बीमारी के चलते व्यक्ति की जान तक चली जाती है। यहां गौर करने वाली बात है कि डेंगू से लड़ने के लिए अभी तक कोई भी दवा उपलब्ध नहीं है। लेकिन जो लोग पपीता के पत्ते का सेवन इस बीमारी में करते हैं, उससे उन्हें विशेष फायदा होता है क्योंकि पपीते के पत्ते के सेवन से शरीर में प्लेटलेटस की संख्या बढ़ने लगती है। कई अध्ययनों में यह बात साबित भी हो चुकी है।

जो व्यक्ति कैंसर पीड़ित हैं, उन्हें पपीते के पत्ते का सेवन अवश्य करना चाहिए। पपीते के पत्ते में एंटीबैक्टीरियल तत्व व एसीटोजेन नामक तत्व पाया जाता है, जो कैंसर कोशिकाओं के विकास को रोकने व उन्हें मारने में अहम भूमिका निभाता है। खासतौर से, गर्भाशय ग्रीवा, प्रोस्टेट, यकृत, स्तन व फेफड़ों के कैंसर में यह बहुत कारगर साबित हुआ है।

स्वास्थ सम्बन्धी अपडेट के लिए हमारे TELEGRAM और WHATSAPP ग्रुप को ज्वाइन करना भूले

नोट:- healthayurindia.com के इस आर्टिकल केवल सूचनात्मक उद्देश्यों के लिए लिखा गया है। कृपया इसके उपयोग से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर ले।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular