Home घ्ररेलु नुस्खे Mulethi Ke Fayde | मुलेठी पाउडर-चूर्ण खाने के फायदे गुण और नुक्शान

Mulethi Ke Fayde | मुलेठी पाउडर-चूर्ण खाने के फायदे गुण और नुक्शान

Mulethi Ke Fayde | मुलेठी पाउडर-चूर्ण खाने के फायदे गुण और नुक्शान: मुलेठी एक तरह का पौधा होता है। इसके तने और छाल में कई तरह के औषधीय गुण (Mulethi Ke Fayde) होते हैं। इसका उपयोग कई तरह का घरेलु इलाज और दबाइयो में किया जाता हैं। यह गला, मसूड़ों और दांतों के लिए बहुत लाभकारी होता हैं। कई तरह के दन्त मंजन निर्माण में इसका उपयोग किया जाता हैं। इसका स्वाद थोड़ा मीठा होता हैं। इसे इंग्रजी में (Liquorice root in hindi) भी कहा जाता हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं की मुलेठी पाउडर-चूर्ण के फायदे, मुलेठी के आयुर्वेदिक गुण (Mulethi benefits in hindi), मुलेठी पाउडर का उपयोग, मुलेठी से नुकसान। आगे बिस्तर से पढ़े।

मुलेठी के फायदे और आयुर्वेदिक गुण (Mulethi Ke Fayde)

mulethi-benefits-for-skin-in-hindi
mulethi-benefits-for-skin-in-hindi

इसमें में कई तरह के आयुर्वेदिक गुण होने के साथ साथ यह फैटी लिवर रोगो के इलाज में सहायक हैं। इसके अलाबा मुलेठी एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरा हैं। हेपेटाइटिस के कारण होने बाले लिवर में सूजन और संक्रमण को भी कम करता हैं। मुलेठी जड़ की चाय स्वस्थ के लिए बहुत अच्छा माना जाता हैं। सिरदर्द में मुलेठी चूर्ण के थोड़ी सी मात्रा कलिहारी चूर्ण और सरसों का तेल मिलाकर सूंघने से सिरदर्द में राहत मिलती हैं। आंखों में जलन या आंखों से जुड़ा कोई भी समस्या में मलेठी का प्रयोग फायदा (Mulethi ke fayde in hindi) पहुँचता है। इसे भी पढ़े: एक चम्मच त्रिफला चूर्ण का फायदा

मुलेठी गले के लिए

सर्दी-खांसी और गले में सूजन या खरास को कम करने और गले की संक्रमण का इलाज करने में मदद करती है। यह बलगम को निकलने में भी मदत करता हैं जिससे खाँसी में आराम मिलता है। सांस की समस्या में मुलेठी जड़ की चाय कुछ दिन तक पिने से राहत मिलती है।

गले की जलन को कम करने के लिए मुलेठी कैंडीज को भी चूस कर खा सकते हैं इससे गले की खरास भी कम हो जायेगा। दस ग्राम मुलेठी में दस ग्राम लौंग (इसे भी पढ़े: लौंग के फायदे), पांच ग्राम हरतकी, दस ग्राम काली मिर्च और पांच ग्राम मिश्री को अच्छी तरह मिलाकर पीस लें। इस चूर्ण को सुबह एक चम्मच शहद के साथ खाने से लाभ मिलता हैं और गले की आवाज भी साफ होती है। इसे भी पढ़े: जायफल (जावित्री) चूर्ण खाने के फायदे

मुलेठी और शहद खाने के फायदे (Mulethi in hindi)

खासी और गले के लिए मुलेठी का प्रयोग बहुत फायदेमंद होता हैं। अगर मुलेठी को सहद के साथ उपयोग किया जाये तो गले की सारे समस्याएं समाप्त हो जाती हैं। 2-2 ग्राम बराबर मात्रा में मुलेठी चूर्ण और आंवला चूर्ण (इसे भी पढ़े : आंवला के फायदे) मिला लें। इस चूर्ण को शहद के साथ मिलाकर सुबह- शाम 2 चम्मच चाटने से खांसी से राहत मिलती हैं। पेट दर्द के लिए- एक चम्मच शहद में मुलेठी चूर्ण मिलाकर दिन में 2 बार लेने से पेट दर्द ठीक हो जाता है। इसे भी पढ़े: सफेद मूसली चूर्ण खाने के फायदे, मात्रा, प्रयोग व नुकसान

मुलेठी-और-शहद-खाने-के-फायदे
मुलेठी-और-शहद-खाने-के-फायदे

महिलाओं के उन दिनों के समस्या में सुबह शाम शहद के साथ मुलेठी का चूर्ण लगभग एक महीने तक चाटने से यह समस्या दूर हो जाते हैं। ह्रदय सम्बन्धी रोगो में सहद के साथ 4 ग्रा. मुलेठी का चूर्ण सेबन करने से ह्रदय रोगों में फ़ायदा मिलता है। मुलेठी के 5 ग्राम चूर्ण को शहद या पानी साथ मिलाकर खिलाने से हिचकी बंद हो जाता हैं।

मुलेठी पाउडर के फायदे और उपयोग (mulethi benefits in hindi)

Mulethi-Powder-ke-faide
Mulethi-Powder-ke-faide

अपने त्वचा को गोरा और मुलायम बनाने के लिए आप मुलेठी का उपयोग कर सकते हैं, क्यू की मुलेठी एक ऐसी जड़ी बूटी है जिसके उपयोग से आप न सिर्फ अपने त्वचा को निखार सकते हैं बल्कि त्वचा सम्बन्धी संक्रमण से भी दूर रह सकते हैं। नियमित मुलेठी पाउडर फेस पैक की तरह इस्तेमाल करने पर छहरे की दाग, झुर्रियों को कम किया जा सकता है। पुराने चोट या घाब के निशान से छुटकारा पाने के लिए भी आप मुलेठी चूर्ण का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसे भी पढ़े: शतावरी चूर्ण खाने के फायदे, उपयोग, लाभ और नुकसान

मुलेठी की चाय के फायदे और बनाने की तरीका (Mulethi khane ke fayde )

मुलेठी एक ऐसी जड़ी-बूटी हैं जिसमे औषधीय गुण मौजूद होते हैं। जो कई बीमारियों से लड़ने में हमें बचाते हैं। लीवर से संबंधित किसी भी समस्या में मुलेठी चाय का सेबन आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता हैं। इसका नियमित सेबन करने से लिवर मजबूत बनता हैं।

इसे बनाने के लिए सबसे पहले पानी को गर्म कर ले और एक चुटकी मुलेठी पाउडर उबलते हुए पानी में डाल दे, इसे 10 मिनट तक उबालते रहे और फिर छान ले। स्वाद के लिए आप इसमें अदरख (इसे भी पढ़े: अदरख खाने के फायदे) भी दाल सकते हैं। इसे गर्म ही पीना स्वास्थ के लिए अच्छा माना जाता हैं। इसे भी पढ़े: अश्वगंधा पाउडर, कैप्सूल खाने के फायदे और नुकशान

मुलेठी पाउडर के फायदे बालों के लिए (Mulethi Churna Ke Faide)

मुलेठी हमारे स्वास्थ के लिए जितना फायदेमंद हैं उतनाही बालों के लिए भी फायदेमंद। जरूरत से ज्यादा अगर आपके बाल झड़ रहे है तो मुलेठी का चूर्ण अच्छी तरह पीसकर अपने बालों के जड़ो में लगाए इससे बाल नहीं झरेंगे और मजबूत भी होंगे। मुलेठी का तेल बालों को झड़ने से रोकता है साथ ही यह बालों को पोषण भी देता हैं। सिर्फ यही नहीं अगर आपके बालों में डैंड्रफ यानि की रुसी की समस्या हैं तो आप नारियल तेल में मुलेठी का चूर्ण मिलाकर इस्तेमाल कर सकते हैं। जिससे रुसी दूर हो जाएगी और बाल लम्बे, घने और मजबूत होंगे।

mulethi-ke-faide-balo-ke-liye
mulethi-ke-faide-balo-ke-liye

मुलेठी के फायदे अल्सर में

पेट का अल्सर एक गंभीर समस्या हैं जो आजकल कई लोग इस बीमारी से ग्रस्त हैं। मुलेठी को आप घरेलु उपचार के तोर पर इस्तेमाल करके इससे निजात पा सकते हैं। एक रिसर्च के अनुसार अल्सर के कारन पेट के घाब को ठीक करने में मुलेठी काफी सहायक होता हैं। इसे भी पढ़े: देशी घी खाने के फायदे- Ghee Khane Ke Fayde

मुलेठी में पाए जाने वाले पोषक तत्व गैस्ट्रिक और अल्सर में फ़ायदा पूछता हैं। इसके लिए आधा चम्मच मुलेठी चूर्ण को 200 ml. गाय के दूध के साथ नियमित सेबन करे इससे रोगी को फ़ायदा मिलेगा।

इसके लिए एक चम्मच मुलेठी चूर्ण (licorice powder in Hindi) या मुलेठी पाउडर को एक कप दूध के साथ दिन में 3 बार सेवन करें। इस दौरान मिर्च, मसाला का सेबन न करे। इसे भी पढ़े: अरंडी तेल के बहतरीन फायदे और नुकशान | Arandi Ka Tel

मुलेठी के गुण (Mulethi ke fayde in hindi)   

  • मलेरिया उपचार में मुलेठी का प्रयोग किया जा सकता हैं।
  • झड़ते बालो की समस्या हो या रुसी की समस्या मुलेठी का इस्तेमाल कर आप इनसे छुटकारा पा सकते हैं।
  • स्मरण शक्ति को तेज करने के लिए मुलेठी एक प्रभाबी जड़ी-बूटी हैं। 
  • मुलेठी का उपयोग डायबिटीज के इलाज में किया जा सकता है।
  • मुलेठी अस्थमा, पीलिया, गठिया और ब्रोंकाइटिस के इलाज में फ़ायदा पोछता है।
  • त्वचा को निखार ने में मुलेठी काफी मदतगार हैं।

मुलेठी के पोषक तत्व

मुलेठी (Mulethi) में विटामिन E और विटामिन B अच्छी मात्रा में मौजूद होते हैं। साथ ही इसमें आयरन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटेशियम, कॉपर, फास्फोरस और जिंक जैसे पोषक तत्व मौजूद होते हैं। इसके बावजूद मुलेठी का सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेना जरूरी है। इसे भी पढ़े: रोज दही खाने के फायदे और नुकसान

पौष्टिक तत्व मात्रा प्रति 100 ग्राम
आयरन 0.13mg
पोटैशियम 37mg
कॉपर 0.028mg
जिंक 0.05mg
सोडियम 50mg
मैग्नीशियम 2mg
फास्फोरस 4mg
फाइबर 0.2g
कैल्शियम 3mg
ऊर्जा 375kcal
राइबोफ्लेविन 0.011mg
कार्बोहाइड्रेट93.55g
विटामिन बी-6 0.004mg
जल 6.3g

मुलेठी खाने का सही तरीका – Mulethi Uses in Hindi

सर्दी-खांसी के इलाज में मुलेठी की चाय का सेवन करें। मु की दुर्गन्ध दूर करने के लिए मुलेठी को चबा सकते हैं।मु में छाले या घाब होने पर 250 ml. पानी को गर्म करके उसमे 5 ग्राम मुलेठी चूर्ण डाल कर अच्छी तरह उबाले, ढांडा होने पर इस पानी से दिन में तीन से चार बार गरारे करे। इससे मु के छाले ठीक हो जायेंगे, पर ध्यान रहे इस दौरान मिश्रण को न निगले। इस उपाय को आप मु के दुर्गन्ध दूर करने के लिए भी प्रयोग कर सकते हैं। इसे भी पढ़े: Giloy ke Fayde | गिलोय के फायदे

मुलेठी से नुकसान Side Effects Of Mulethi In Hindi

  • गर्वबती महिलाये या छोटे बच्चे इसका सेबन न करे।
  • इसका अत्यधिक सेवन से हाई ब्लड प्रेशर का बढ़ने का खतरा हो सकता है।
  • मुलेठी में काफी मात्रा में ग्लाइसीर्रिजिनिक एसिड मौजूद होते हैं, इसके सेबन से दूसरे दवा यो का प्रभाब कम हो सकता हैं या फिर शरीर पर दुस्प्रभाब भी हो सकते हैं।
  • अधिक मात्रा में दो सप्ताह से ज्यादा इसका सेबन करने से नुकशान हो सकता हैं।
  • अगर आप हाई बीपी के लिए दबाई ले रहे है तो इसका सेबन न ही करे तो बेहतर हैं।
  • अगर आप डायबेटीस या किडनी की समस्या से जुज रहे हैं तो इसका सेबन से दूर रहे।
  • चिकित्सक से सलाह लेने के बाद ही इसका सेवन शुरू करें।

हेल्थ सम्बन्धी जानकारी के लिए हमारा TELEGRAM चैनल ज्वाइन करे

नोट:-healthayurindia.com के इस आर्टिकल केवल सूचनात्मक उद्देश्यों के लिए लिखा गया है। कृपया इसके उपयोग से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर ले। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular