Home घ्ररेलु नुस्खे Mint Leaves In Hindi: पुदीना के फायदे जानकर हैरान रह जायेंगे

Mint Leaves In Hindi: पुदीना के फायदे जानकर हैरान रह जायेंगे

Mint Leaves In Hindi: सेहत संबंधी कोई भी परेशानी हो घरेलू तरीकेसे के जरिए उन्हें ठीक किया जा सकता है। पुदीना भी इन्हीं घरेलु नुस्खों में से एक है, जिसका जिर्क आयुर्वेद में भी बताया गया है। पुदीने की पत्तियों को खासकर चटनी बनाने में इस्तेमाल किया जाता है। हर भारतीय किचन में पुदीने का इस्तेमाल कई तरह से जाता है। ताजे दही के साथ रायता बनाने की बात हो या चटनी इसकी खुशबू आपको जरूर अपनी ओर खींच लाएगी। जिसमें चटनी, सलाद, करी, गर्म या ठंडा सूप, जूस आदि मुख्य है। इसकी चटपटी चटनी खाने के स्वाद को दोगुना कर देती है। पुदीना कोई आहार तो नहीं है लेकिन इसकी मौजूदगी से खाने का स्वाद बढ़ जाता है। इसके अलावा पुदीने की पत्ती को दबा के रूप में भी इस्तेमाल क्या जाता हैं।

पुदीना के फायदे- Mint Leaves In Hindi


पुदीने के रस को पानी में मिलाकर कुल्ला करने से मुंह की बदबू दूर होती है। इससे मुंह में ठंडक का भी एहसास होता है।

पुदीने की ताजी पत्तियों को पीसकर चेहरे पर लगाने से चेहरे को ठंडक मिलती है।
बिच्छू या कोई जहरीले किट पतंग डंक मार दे तो उस जगह पर पुदीने का अर्क लगाने से यह विष को खींच लेता है और दर्द को भी कम हो जाता है।

Mint Leaves In Hindi:गर्मी में लू से बचने के लिए भी पुदीने का इस्तेमाल किया जाता है। पुदीना का रस ठन्डे पानी मिलाके पीकर बाहर निकलने से धूप लगने का डर भी कम रहता है।

हरे पुदीने की कुछ पत्तियां को कालीमिर्च 2-3 दाने, मिश्री और सौंफ 10-10 ग्राम  इन सबको एक साथ मिलाकर पीस लें और सूती ब साफ कपड़े में रखकर निचोड़ लें। इस रस की एक चम्मच मात्रा लेकर एक कप कुनकुने पानी में डालकर पीने से हिचकी आना बंद हो जाती है।

पुदीने के रस का सेवन करने से पेट दर्द से छुटकारा मिलता है और भारीपन जैसे पेट में बनी गैस से भी तुरंत राहत मिलती है और पाचन शक्ति को भी  दुरुस्त रखने में मदद करता हैं।


Mint Leaves In Hindi: पेट दर्द होने पर भी पुदीने को जीरा, काली मिर्च और हींग के साथ मिलाकर खाने से आराम होता है। 10 ग्राम पुदीना व 20 ग्राम गुड़ 200 ग्राम पानी में उबालकर पिलाने से बार-बार उछलने वाली पित्ती ठीक हो जाती है।
पुदीने में कुछ ऐसे एंजाइम होते हैं, जो कैंसर जैसीभंयकर बीमारी से बचाने में मदद करते हैं।

पुदीना के औषधीय गुण

पुदीने के पत्तों का इस्तेमाल दांतों की देखभाल में भी किया जाता है। इसके अलावा इसका इस्तेमाल से पिम्पले और मुंहासे ठीक करने में भी किया जाता है।

अस्थमा रोगियों के लिए

पुदीने का सेवन करने से हमें कईरोगों से छुटकारा मिलता है, पुदीने का सेवन अस्थमा जैसे रोग के लिए भी लाभकारी है ।

नोट:- healthayurindia.com के इस आर्टिकल केवल सूचनात्मक उद्देश्यों के लिए लिखा गया है। कृपया इसके उपयोग से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर ले।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular