Home आयुर्वेदिक Methi Ke Fayde | भीगी हुए और अंकुरित मेथी के फायदे और...

Methi Ke Fayde | भीगी हुए और अंकुरित मेथी के फायदे और नुकसान

Methi Ke Fayde: मेथी एक बहुत ही मशहूर जड़ीबूटी हैं जिसे भारत के हर रसोई में इसका इस्तेमाल क्या जाता हैं खाने को और स्वादिस्ट बनानेके लिए और इसे आयुर्बेद में एक खास स्थान दिया गया हैं इसके सारि गुणों के बजह से इसे आयुर्बेद में बहुत सारि दबा इस्तेमाल क्या जाता हैं। मेथी (Fenugreek In Hindi) में एंटीऑक्सीडेंट साथ साथ बहुत सारि मिनरल्स भी मिलता हैं जैसे आयरन मैग्नेशियम पोटासियम इत्यादि।

मेथी के फायदे- Methi Ke Fayde

इसके नियमित सेबन से इसमें मौजूद ग्लाक्टोमेनोन और पोटासियम ब्लडप्रेसर कम करता हैं साथ मे यह हार्टअटैक से भी बचता हैं साथ ही यह शुगर को भी कण्ट्रोल करता हैं इसमें मौजूद सेलुबाल हायबर्स ब्लड शुगर को कण्ट्रोल करके डाईबेटिस के खतरे को कम करता हैं इसके अलाबा यह आपका पाचन क्रिया को भी मजबूत करता हैं साथ में कब्ज सहित पेट के बहुत सारि अंदरूनी बमरियोंको भी यह ठीक करता हैं।

मेथी के फायदे- Fenugreek Benefits In Hindi

इसके साथ जिन लोगो को बरते वजन से परेशानी हो रही हैं उनके लिए तो यह किसी बरदान से कम नहीं रोज सुबह भीगे हुए कुछ मेथी दाने (Methi dana Ke Fayde ) खली पेट खाने से बजन कण्ट्रोल में रहता हैं। काले और लम्बे बालो के लिए भी मेथी का उपयोग हैं काफी मदतगार अगर आपके बाल समय से पहले ही पक गए हैं और झर भी रहे हैं तो मेथी आपका काम आ सकता हैं रोज 2 हप्ते सुबह खली पेट कुछ मेथी के दाने भोगो कर खाने से बाल जल्दी सफ़ेद नहीं होते और लम्बा घना मुलायम भी होता हैं।

Methi Ke Fayde: मेथी पाउडर के फायदे (fenugreek seeds in hindi) शरीर में खून की कमी को भी मिटाता हैं मेथी में मौजूद आयरन सरीर में खून बढ़ाता हैं और खून भी साफ करता हैं साथ में रोग प्रतिरोधोक समता को भी बढ़ाता हैं। गैस्ट्रिक एसिडिटी जैसी समस्या को भी यह कम करता है रोज कुछ भीगे हुए मेथी के औषधीय गुण सभी बीमारियोंको यह जर से मिटाता हैं साथ में यह उरिन इन्फेक्शन को भी मिटाता हैं। मेथी के दाने जोरो के दर्द को भी कम करता है।

अंकुरित मेथी के फायदे

अंकुरित मेथी के फायदे किसी भी अंकुरित अनाज के फायदों जितने ही बराबर होता हैं जैसे की अंकुरित छोले। अंकुरित मेथी में कई तरह के पोषक तत्व होते हैं जैसे, फाइबर, पोटेशियम, विटामिन सी, आयरन, प्रोटीन, नियासिन तत्व मौजूद होते हैं। आयुर्वेद चिकित्‍सा प्रणाली में भी अंकुरित मेथी का एक खास जगह हैं जो औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं। मेथी के डेन हो या अंकुरित मैथी दोनों ही स्‍वास्‍थ्‍य के लिए काफी अच्छा मन जाता हैं।

हरी मेथी के फायदे

अंकुरित मेथी की तरह ही हरी मेथी के फायदे बेशुमार हैं। हरी मेथी में डाओस्जेनिन नामक एक यौगिक होता है जो एस्ट्रोजन सेक्स हार्मोन जैसा काम करता है। और इसी योगिक के कारन मेथी गुण कई ज्यादा बढ़ जाता हैं, जिसके कारण वह हरी मेथी स्वास्थ्य से लेकर खूब सुरति निखार ने में भी सहायक होता हैं।


Methi Ke Fayde: कब्ज के शिकार ब्यक्ति अगर हरी मेथी का सेबन करे तो उनके लिए यह रामबाण इलाज हैं। हरी मेथी न सिर्फ कब्ज से छुटकारा दिलाता हैं बल्कि पाचन से जुड़ी सारी समस्याओं को भी मिटाता हैं। एक्सपर्ट्स की मने तो हरी मेथी अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में भी सहायक होता हैं।

शुगर में मेथी के फायदे

मेथी दाना हो या मेथी के पत्ते में दोनों ही मधुमेह के इलाज में काफी फायदेमंद होते हैं। मेथी न सिर्फ मधुमेह में प्रभाबी हैं बल्कि यह बालो के लिए भी उतनाही फायदेमंद हैं। बैज्ञानिको ने कई तहर के इसमें शोध किये जिससे यह पता चलता हैं की मेथी के बीजों में मौजूद पोषक तत्व मधुमेह को काफी हद तक कम कर देता हैं। पर यह कभी कभी शरीर पर दुस्प्रभाब भी दाल सकते हैं जैसे उलटी आना। इसके उपयोग से पहले डॉक्टर से सलहा जरूर ले।

मेथी चूर्ण/पाउडर के फायदे

बालों के लिए मेथी चूर्ण/पाउडर का उपयोग बहुत फायदेमंद होता हैं। एक्सपर्ट्स के अनुसार, मेथी के बीज में काफी मात्रा में प्रोटीन पाय जाते हैं, जो बालों के लिए जरूरी होता है। मेथी चूर्ण को अपने इस्तेमाल किये जाने बाले तेल में मिलाकर बालो में लगाने से गंजापन, बालो का झरना, बालों का पतला होना इत्यादि बालों के समस्या से छुटकारा मिल जाता हैं। मेथी में लेसिथीन नमक एक खास तरह का योगिक भी मौजूद होता हैं जो बालों को प्राकृतिक रूप से मजबूत बनाये रखने में मदत करता हैं और इससे रुसी भी दूर हो जाता हैं।

मेथी खाने के नुकसान-Methi Pani Ke Nukshan

Methi Ke Fayde: मेथी खाने के नुकसान:किन लोगो को मेथी के दाने या भीगे हुए पानी नहीं लेना चाहिए? मेथी जितना स्वस्थ बर्धक हैं इसके ज्यादा इस्तेमाल से कुछ नुकशान भी हैं। ज्यादा मेथि के सेबन से उलटी या दस्त जैसे समस्या हो सकती हैं इसके इस्तेमाल करने से पहले आप अपने त्वचा में थोड़ी सी मात्रा लगाके इसका जांच करले की कोई जलन या अलेर्जी तो नहीं हो रहे क्यों की हर दबा हर किसी को सूट नहीं करता। महिलाये प्रेग्नेंसी के दौरान इसका इस्तेमाल बिलकुल न करे क्यों की मेथी बहुत गर्म प्रकृतिका होता हैं इसका ज्यादा इस्तेमाल से सीने में जलन सूजन जैसी बीमारीका लक्षण सामने आ सकता हैं। इसीलिए इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर की सलहा जरूर ले।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular