Home हेल्थ टिप्स दालचीनी खाने के फायदे और इनके खूबी। Dalchini Ke Fayde

दालचीनी खाने के फायदे और इनके खूबी। Dalchini Ke Fayde

दालचीनी खाने के फायदे और इनके खूबी को जाने। Dalchini Ke Fayde – वैसे तो भारत में मिलनी बाली हर मसाला (Dalchini masala) किसी दबा से कम नहीं ना इसे सब खाने में इस्तेमाल किया जाता हैं बल्कि इसके कई और गुण भी हैं इसिमे से एक मसाला हैं दालचीनी, जो हर भारतीय की रसोई में पाया जाता हैं जो किसी दबा से कम नहीं जी हा दालचीनी के लाभ ब गुण कुछ ऐसे हैं जिसे जानकर आप चौक जायेंगे

इसे खाने से ना ही आप स्वस्थ रहेंगे बल्कि इससे बहुत सारि बीमारीका इलाज भी किया जा सकता हैं जितने भी तरह के दालचीनी होते हैं उनमे कूमेरिन नामक रसायन होता है जो लिवर के खराब होने से बचता हैं।

आज हम आपको दालचीनी के फायदे (dalchini ke fayde), दालचीनी का उपयोग (uses of dalchini), और दालचीनी के नुकसान से जुड़ी जानकारी बताएँगे। दालचीनी के फायदे (Benefits Of Cinnamon (Dalchini) In Hindi)

दालचीनी खाने के फायदे- Dalchini Khane Ke Fayde

दालचीनी एक किस्म का मसाला होता हैं जो खाने में स्वाद को बढ़ाने में इस्तेमाल किया जाता है। दालचीनी एक खास तरह की लकड़ी होती है जो औषधिय गुणों से भरपूर होती है। यह ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में मदत करता है और हार्ट अटैक जैसे खतरे को भी कुछ हद तक टाल देता हैं। बाजार में लाने से पहले दालचीनी को इसके पेड़ से निकालकर और फिर इसे सुखाकर बेचा जाता है।

यह दालचीनी (Cinnamon) सिनेमामम नाम के पौधे (Dalchini tree) के तने और शाखाओं की अंदरूनी छाल (परत) होती है। यह सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होती है अगर सही मात्रा में इसका सेवन किया जाए। नहीं तो यह फायदे की जगह नुकसान (Dalchini side effects in hindi) भी कर सकता है।

इसे भी पढ़े: क्या हैं अजवायन खाने के चमत्कारी फायदे ?AJWAIN KE FAYDE

दालचीनी- Dalchini Ke Fayde, Cinnamon In Hindi

दालचीनी दो तरह की होती हैं आमतौर पर हम एक ही तरह के दालचीनी के बारे में जानते हैं जिसका इस्तेमाल दाल और सब्जी तैयार करने में किया जाता है। लेकिन दालचीनी खास दो तरह की होती है। इन दोनों में सिर्फ स्वाद का अंतर होता हैं।

ज्यादातर लकड़ी के रंग जो दालचीनी हमारे घरों में इस्तेमाल होती है, उसका स्वाद सबसे ज्यादा तीखा होता है। इसे रेग्युलर सिनमन या कैशीअ (Cassia) नाम से जाना जाता है।

दूसरी तरह की दालचीनी को सीलोन (Ceylon) नाम से जाना जाता है। इसका स्वाद और खुसबू कैशीआ से थोड़ा अलग होता है। इसे सीलोन नाम से भी जाना जाता हैं। सीलोन का उपयोग (Dalchini ka upyog) कुछ खास दवाओं में किया जाता है। यह सिनमन से थोड़ा महंगा होता हैं।

इसे भी पढ़े: एक चम्मच त्रिफला के फायदे जानकर हैरान हो जाएंगे

दालचीनी खाने के औषधीय गुण (Benefits Of Cinnamon For Medical Use In Hindi)

दालचीनी में अधिक मात्रा में यौगिक होती है जो हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है। दालचीनी मेटाबोलिज्म को अच्छा करने में मदद करते हैं। इसलिए दालचीनी को दवाई के रूप में भी इस्तेमाल किए जा सकता हैं।

दालचीनी एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर (Benefits Of Dalchini Are Full Of Antioxidants)

दालचीनी एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता हैं। डाइट एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होनी चाहिए और दालचीनी खाने के फायदे (dalchini khane ke fayde) एंटीऑक्सीडेंट अपने साथ लेकर आते हैं। एक रिसर्च के मुताबिक दालचीनी में 26 मसालों की बराबर एंटीऑक्सीडेंट मात्रा पाया जाता हैं, जो लहसुन और ओरिगेनो जैसे मसालों को पीछे छोड़ दिया है।

दालचीनी शरीर को इंफेक्शन से बचाव करने में भी मदद करता हैं, दालचीनी में पाया जाने वाला पौस्टिक तत्व सभी तरह के वायरस से बचाव करने में हमारी मदद करता है। दालचीनी एंटी-माइक्रोबियल गुणों से भी भरपूर होता हैं जो दांतों की सड़न, सांस में बदबू से भी बचाब करता हैं। दालचीनी का इस्तेमाल कुछ हद तक कैंसर से भी बचाव करता हैं।

दालचीनी में पोषक तत्व की मात्रा (Cinnamon (Dalchini) Nutritional Value In Hindi)

दालचीनी में कई सरे पौष्टिक तत्व हैं जिनके बारे में जानकारी होना बेहद जरुरी है। दालचीनी का सेवन से कितने पौष्टिक तत्व मिलता हैं इसकी जानकारी इस टेबल के माध्यम से जान सकते हैं।

इसे भी पढ़े: जायफल के फायदे, उपयोग और नुकसान – NUTMEG IN HINDI

पोषक तत्वमात्रा प्रति 2.6 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट2.1 ग्राम
फास्फोरस1.66 ग्राम
विटामिन A0.39 माइक्रोग्राम
मैग्नीशियम1.56 ग्राम
कैल्शियम26.1 मिलीग्राम
एनर्जी6.42
आयरन0.21 एमजी
पोटेशियम11.2 ग्राम

दालचीनी के 10 महत्वपूर्ण फायदे सहद के साथ- Dalchini uses in hindi

दालचीनी के फायदे सौंदर्य बढ़ाने में –

बॉल और त्वचा के सौंदर्य निखार ने में दालचीनी के फायदे हैं। यह त्वचा (Dalchini ke fayde for skin) को निखारने में और चेहरे पे झुर्रियों को कम करने में भी मदत करता हैं। दालचीनी के चूर्ण (सिनेमन पाउडर) को नीबू के रस के मिलाकर चेहरे पे लगाने से ब्लैकहैड्स दूर हो जाते हैं। दो चम्मच दालचीनी पाउडर (Dalchini powder) में थोड़ा सा नीबू के रस, एक चम्मच ओलिव आयल, आधा कप दूध, दो चम्मच चीनी मिलाकर पांच मिनट के लिए शरीर पर अच्छी तरह से मसाज करे और आधे घंटे बाद ठन्डे पानी से नाहा ले आपकी त्वचा खिल उठेगी।

इसे भी पढ़े: रूसी को जड़ से मिटाएँ 10 घरेलु तरीको से

शहद और दालचीनी के फायदे: 

दालचीनी के पेस्ट को सहद के साथ मिलकर रात को सोने से पहले चेहरे पर लगाएं और सुबह धो लें, इससे चहरे के स्किन खिला खिला सा रहता हैं। जिन लोगो को बॉल झरने के समस्या हैं उनके लिए एक चम्मच दालचीनी चूर्ण में, जैतून के तेल और एक चम्मच शहद को मिलाकर पेस्ट बना ले और इसे अपने सर पर लगाए और कुछ देर बाद सर धो ले इससे बालों का झरना बहुत हद तक कम हो जायेगा।

दालचीनी के फायदे पेट के रोगो में –

गैस की समस्या, पेट में मरोड़, एसिडिटी जैसी समस्यों में भी दालचीनी का पाउडर लेने से बहुत फायदेमंद होता हैं। और इससे पाचन शक्ति भी मजबूत होता हैं। दालचीनी और शहद का मिश्रण लेने से पेट का अल्सर जड़ से ठीक हो जाता है।

इसे भी पढ़े: SAFED MUSLI: सफेद मूसली के फायदे, गुण व नुकसान जरूर जाने

दालचीनी के फायदे सर्दी-खांसी में – 

जुखाम-सर्दी, खांसी और गले की तकलीफों में दालचीनी एक रामबाण इलाज साबित हो सकता हैं। दालचीनी को इसका चूर्ण बना ले और एक चम्मच शहद के साथ खाने से जुकाम से छुटकारा मिलता है। आप गुनगुने पानी (Dalchini ke pani ke fayde) में भी दालचीनी चूर्ण शहद के साथ मिलाकर पी सकते हैं इससे काफी फ़ायदा मिलता हैं। पुराने से पुराने बलगम को निकालने में भी दालचीनी फायदेमंद हैं, इसके लिए आप दालचीनी को पीसकर इसका चूर्ण बना ले और इसे पिसी हुई काली मिर्च के साथ सेवन करे इससे पुराने कफ में भी राहत मिलेगी।

दालचीनी के फायदे जोड़ों के दर्द में

जोड़ो के दर्द होने पर दालचीनी का प्रयोग आपको बहुत राहत पौछा सकता हैं। इसके लिए रोज दालचीनी का चूर्ण गर्म या गुनगुने पानी में मिलकर पिए, इसके अलावा इस गर्म पानी को दर्द बाली जगह पर अच्छी तरह से मालिश करने पर जोड़ों के दर्द में काफी आराम मिलता हैं।

लगातार एक महीने तक इस दालचीनी के घरेलू उपाय को आजमाने से जोड़ो के दर्द से परेशान लोग भी चलने फिरने में सक्षम हो जाते हैं। आर्थाइटिस के दर्द में भी दालचीनी काफी फायदेमंद है।

इसे भी पढ़े: शतावरी के फायदे जानते हैं आप? क्‍या है इसका हेल्‍थ बेनिफिट्स

दालचीनी के फायदे कैंसर से बचाब में –

दालचीनी सिर्फ एक मसाला ही नहीं यह कैंसर जैसे रोग नियंत्रण करने में भी सक्षम है। शोधकर्ताओंने अमाशय के कैंसर और हड्डी के बढ़ जाने की स्थति‍ में दालचीनी और शहद का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद बताया है। यह न सिर्फ कैंसर जैसी बीमारिको रोकता हैं बल्कि यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है।

dalchini-ke-fayde-cinnamon-benefits-in-hindi

दालचीनी के फायदे मोटापा कम करने में – Dalchini for weight loss

मोटापे कम करने में भी दालचीनी एक रामबाण उपाय हो सकता है। यह खून में मौजूद बाड कोलेस्ट्रॉल को कम करती है, जिससे मोटापा बढनेकी सम्भाबना कम हो जाता हैं। इसके लिए दालचीनी का चाय (Dalchini tea ke fayde) भी बनाकर पि सकते हैं जो बहुत फायदेमंद है।

इस पद्धति को आजमाने के लिए एक छोटी चम्मच दालचीनी के पाउडर एक गिलास पानी में उबालकर आंच से उतार लें। सुबह नास्ता से आधा घंटा पहले उसमें दो बड़े चम्मच शहद मिलाकर पिएं। रात को सोने से पहले भी इसका सेवन कर सकते हैं इससे दुगना फ़ायदा मिलेगा है, और शरीर में मौजूद अतिरिक्त फैट धीरे-धीरे कम होने लगता हैं।

इसे भी पढ़े: अश्वगंधा खाने के फायदे, नुकसान और तरीके जरूर जाने

दालचीनी के फायदे हृदय रोगी के लिए-

आपके हृदय को हमेशा स्वस्थ बनाए रखने के लिए भी दालचीनी बहुत सहायक होती है, यह हृदय की रक्त धमनियों में चर्बी याह बाड कोलेस्ट्रॉल को जमने से रोकता हैं। तो ह्रदय सम्बन्धी स्वस्थ के लिए हर रोज दालचीनी और सहद गुनगुने पानी के साथ सेवन करें।

दालचीनी के फायदे सिर दर्द में-

सर्दी जुखाम के कारण होने वाले सिरदर्द में दालचीनी पेस्ट का लेप लगाने से सिरदर्द कम हो जाता हैं, और तो और गर्मियों के तेज धुप के कारन होने वाले सिरदर्द में भी दालचीनी बहुत फायदेमंद हैं, इसके लिए चावल के पानी में तेजपत्ता और दलचीनी को मिश्री के साथ पीसकर सूंघने से सिरदर्द कम हो जाता है। इसके अलावा तिल के तेल और दालचीनी के तेल (Dalchini ke tel ke fayde) मिलकर इसके कुछ बूंदें सिर पर मालिश करने से भी सिरदर्द ठीक हो जाता हैं।

इसे भी पढ़े: AKHROT: अखरोट के फायदे और उपयोग, खाने से दूर होंगे ये रोग

दालचीनी तेल का फ़ायदा- Dalchini oil

अस्थमा और लकवा रोगी के लिए इसका तेल लगाने से बेहद फ़ायदा होता है। दालचीनी के तेल की कुछ बूंदें कान में डालने से काफी फ़ायदा मिलता हैं। दालचीनी तेल का इस्तेमाल सूजन कम करने में, घाब और बदन में दर्द को ख़तम करने के लिए किया जाता है। यह खुजली की समस्या को भी मिटानेके साथ साथ दांतों के दर्द से राहत देता है। पायरिया यानि मुंह के दुर्गन्ध दूर करने में यह बहुत सहायक हैं दालचीनी के तेल (Dalchini oil Benefits) को उंगलियों में लगाकर ब्रूस के तरह इस्तेमाल करने से मसूरी भी स्ट्रांग होते हैं साथ मुँह के दुर्गन्ध भी दूर होते हैं।

वीडियो में देखे दालचीनी खाने के फायदे

हेल्थ सम्बन्धी जानकारी के लिए हमारा TELEGRAM चैनल ज्वाइन करे

नोट:- healthayurindia.com के इस आर्टिकल केवल सूचनात्मक उद्देश्यों के लिए लिखा गया है। कृपया इसके उपयोग से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर ले।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular